मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मिले राहुल गांधी, सलमान खुर्शीद बोले मुलाकात को सियासी रंग ना दिया जाए

0
13

kraphy.com-Buy Metal Wall decor Online in India at Best Prices

नई दिल्ली। बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के मुस्लिम बुद्धिजीवियों के साथ मुलाकात की। राहुल गांधी के साथ इस संवाद बैठक में इतिहासकार इरफान हबीब,सामाजिक कार्यकर्ता इलियास मलिक, कारोबारी जुनैद रहमान, ए एफ फारूकी, अमीर मोहम्मद खान, वकील जेड के फैजान, सोशल मीडिया एक्टिविस्ट फराह नकवी सहित कई और लोग भी शामिल हुए। इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद और पार्टी के अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष नदीम जावेद भी मौजूद रहे। मुलाकात के दौरान कई मुद्दों पर बात हुई। 12 मुस्लिम चिंतकों ने राहुल गांधी ने मुलाकात की

पीएम मोदी पर कांग्रेस का तंज, पंजाब में ‘जुमलों के बादशाह’ की किसान रैली असफल रही
कई मुद्दों पर हुई बात

इस मीटिंग के बाद कांग्रेस के नेता सलमान खुर्शीद ने मीडिया से बात करते हुए जानकारी दी कि, ” कई वकील, इतिहासकार और विश्वविद्यालयों के बुद्धिजीवियों ने राहुल गांधी के साथ मुलाकात की और मुलाकात के दौरान लोक नीति पर चर्चा हुई। जिस क्षेत्र में वे काम करते हैं उन्होंने अपने क्षेत्र की जानकारी विपक्ष के नेता राहुल गांधी को दी। उम्मीद है कि भविष्य में ऐसी मुलाकातें होती रहेंगी। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इस मुलाकात को राजनैतिक रंग ना दिया जाए। वहीं मीटिंग में शामिल हुए सामाजिक कार्यकर्ता इलियास मलिक ने कहा कि राहुल गांधी के साथ कौम की नहीं बल्कि देश की बात हुई, सामाजिक मसलों पर चर्चा हुई। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि मुस्लिम चिंतकों ने सलाह दी है कि कांग्रेस को 60-70 के दशक में लौटने की सलाह दी है। इस बैठक के बाद भी राहुल गांधी मुस्लिम समुदाय के विद्वानों से मिलते रहेंगे। दूसरे चरण की बैठक के लिए जाने माने लेखक जावेद, अख्तर शबाना, आजमी मुनव्वर हसन के अलावा कई वरिष्ठ पत्रकारों को निमंत्रण भेजा गया है।बता दें कि ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस का लक्ष्य है कि 2019 चुनाव के मद्देनजर सभी वर्गों के लोगों से मुलाकात की जाए।

भाजपा ने साधा कांग्रेस पर निशाना

मुस्लिम बुद्धिजीवियों से मुलाकात को भारतीय जनता पार्टी ने इसे 2019 का गठजोड़ बताया। केंद्री मंत्री गिरीराज सिंह ने कहा है कि, ” वोट बैंक के हिसाब से राजनीति करती है कांग्रेस”।

SHARE