कुक्के श्री सुब्रह्मण्य मंदिर | Kukke Subramanya Temple

0
130
kraphy.com-Buy Metal Wall decor Online in India at Best Prices

Kukke Subramanya Temple – कुक्के श्री सुब्रह्मण्य मंदिर कर्नाटक राज्य के सुब्रह्मण्यम गांव में आता है। प्रकृति की सुंदरता में बसे इस शानदार मंदिर को पवित्रता स्थान कहा गया है। यह मंदिर गांव के दिल में स्थित है। प्रकृति नदियों, जंगलों और पहाड़ों से घिरा यह मंदिर अपनी अनोखी सुंदरता को प्रकट करता है।

कुक्के श्री सुब्रह्मण्य मंदिर – Kukke Subramanya Temple

भगवान सुब्रह्मण्य कुक्के सुब्रह्मण्य मंदिर का मुख्य देवता है। कुक्के सुब्रह्मण्य नागा का निवास स्थान है। इसलिए, किसी भी तरह के नागा दोषों से मोक्ष के लिए अंतिम आकर्षण माना जाता है। हजारों भक्त सरपा संस्कार, नागप्रतिष्ठ, अशलेशा बाली और अन्य अनुष्ठान करने के लिए यहां आते हैं।

कुक्के श्री सुब्रह्मण्य मंदिर का इतिहास – Kukke Subramanya Temple History

इतिहास के मुताबिक, कुक्के सुब्रह्मण्य मंदिर का वर्णन स्कंद पुराणम में अध्याय ‘सहद्रीक्षखंड’ में है। पुराणों के अनुसार, सुब्रह्मण्य क्षेत्र धरारा नदी के तट पर है। यह जगह सुब्रमण्य प्राचीन काल में कुक्के पट्टन्ना के रूप में प्रसिद्ध थी।

कुक्के श्री सुब्रह्मण्य मंदिर कहानी – Kukke Subramanya Temple Story

कुक्के सुब्रमण्य मंदिर की उत्पत्ति की कथा स्कंद पुराणम में विस्तार से है। साँप राजा वासुकी गरुड़ से बचने के लिए बिलादवार (मंदिर के पास स्थित) नामक गुफा में छुपा रहा था, जो अपनी भूख को संतुष्ट करने के लिए सांपों की शिकार कर रहा था। वासुकी भगवान शिव का एक बड़ा भक्त था। गरुड़ ने वासुकी को देखा और उस पर हमला करना शुरू कर दिया।

महान ऋषि कश्यप मुनी ने वासुकी से सुरक्षा के लिए भगवान शिव से प्रार्थना करने का भी अनुरोध किया। अपनी तपस्या के बाद, भगवान शिव वासुकी के सामने प्रकट हुए और उन्हें सूचित किया कि अगले कालपा में, उनके पुत्र कार्तिकेय (सुब्रह्मण्य) आएंगे और उनकी रक्षा करने के लिए वहां रहेंगे।

आखिर में अगले कालपा में, राक्षस तारकसुर की हत्या के बाद, भगवान सुब्रह्मण्यम अपने भाई भगवान गणेश के साथ कुमर पर्वत पहुंचे। भगवान सुब्रह्मण्य ने उन्हें अपना दर्शन दिया और उनके संरक्षण के लिए उनके साथ रहने का वादा किया।

कुक्के सुब्रह्मण्य श्राइन तक कैसे पहुंचे – How to Reach Kukke Subramanya Temple

रास्ते से: कुक्स सुब्रह्मण्य मैसूर, बेंगलुरू, मंगलुरु और धर्मस्तहला से अच्छी तरह से सुलभ सड़क है।

हवाईजहाज से: सुब्रमण्यम का निकटतम हवाई अड्डा 115 किमी की दूरी पर स्थित मंगलुरु अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है।

रेल द्वारा: निकटतम रेलवे स्टेशन मंगलौर-बैंगलोर रेलवे मार्ग पर सुब्रह्मण्य रोड (एसबीएचआर) रेलवे स्टेशन है। यह कुक्के सुब्रह्मण्य से 12 किमी की दूरी पर स्थित है, जबकि मैंगलोर और बैंगलोर से दैनिक यात्री ट्रेन सेवा भी उपलब्ध है।

लोग स्टेशन से मंदिर तक पहुंचने के लिए स्थानीय परिवहन सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं।

More Temple:

  • History in Hindi
  • Famous temples in India

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article About Kukke Subramanya Mandir in Hindi… And if you have more information History of Kukke Subramanya Temple then help for the improvements this article.

The post कुक्के श्री सुब्रह्मण्य मंदिर | Kukke Subramanya Temple appeared first on ज्ञानी पण्डित – ज्ञान की अनमोल धारा.

SHARE