Uncategorized

कुछ नया सीखने के लिए तुम्हें भूलना होगा कि तुम एक...

बुद्ध ने समझाते हुए उस व्यक्ति से कहा- यही तो मेरा जवाब है. तुम सीखने के लिए तैयार नहीं हो, पहले से ही इतने...

VIDEO: महफ़िल-ए-मुशायरा- ‘लगता है वो ज़रूर मिलेंगे यहीं कहीं, भटका हुआ...

आज की महफ़िल-ए-मुशायरा में पेश हैं ज़ुबैर फ़ारूक़ी के क़लाम

VIDEO: महफ़िल-ए-मुशायरा- ‘अपनी बूढ़ी मां के पैरों को दबा कर देखना’

आज की महफ़िल-ए-मुशायरा में पेश हैं अहमद रईस निज़ामी के क़लाम.